सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को एक मामले की सुनवाई करते हुए टिप्पणी की कि ज्यादातर तलाक की नौबत लव मैरिज वाले मामलों में आ रही है। जस्टिस बीआर गवई और संजय करोल की पीठ ने एक वैवाहिक विवाद को लेकर ट्रांसफर याचिका पर सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी उस समयContinue Reading

सजा ए मौत…ये शब्द सुनते ही रूह कांप जाती है. दुनिया के 50 से भी ज्यादा देश दुर्दांत अपराधी से जीने का हक छीन लेते हैं. उनको सजा के रूप में मौत दी जाती है. भारत में भी इसका प्रावधान है. साल 2017 में एडवोकेट ऋषि मल्होत्रा ने सुप्रीम कोर्टContinue Reading

बॉम्बे हाईकोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने हाल ही में एक केस की सुनवाई करते हुए कहा कि अगर एक विवाहित महिला को फैमिली के लिए घर का काम करने के लिए कहा जाता है। तो इसे नौकरानी के जैसे काम कराना नहीं     समझा जाएगा और ना ही येContinue Reading

मुंबई की एक विशेष पोक्सो अदालत ने हाल ही के एक आदेश में नाबालिग छात्रा के यौन उत्पीड़न के मामले में एक व्यक्ति को 1.5 साल जेल की सजा सुनाई है और यह कहा कि लड़की को “आइटम” के रूप में संबोधित करना केवल उसे यौन इरादे से ऑब्जेक्टिफाई करनेContinue Reading

देश में धर्म के नाम पर नफरती बयानों को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने सख्त टिप्पणी की है। सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका की सुनवाई के दौरान शुक्रवार को कहा कि यह 21वीं सदी है। धर्म के नाम पर हम कहां पहुंच गए हैं? कोर्ट ने कहा कि यह स्थिति एकContinue Reading

अविवाहित महिलाओं को भी 24 हफ्ते तक अबार्शन का मिला अधिकार:सुप्रीम कोर्ट* सुप्रीम कोर्ट ने  एक बड़ा फैसला अविवाहित महिलाओं के हक में किया है। कोर्ट ने कहा कि मेडिकल टर्मिनेशन आफ प्रेग्नेंसी एक्ट के तहत अविवाहित महिला को भी गर्भपात का अधिकार है। शीर्ष न्यायालय ने कहा कि विवाहितContinue Reading

2016 के नोटबंदी का मामला सुप्रीम कोर्ट में, 58 याचिकाओं पर 12 अक्तूबर को सुनवाई करेगी अदालत* सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह इस बात की जांच करेगा कि क्या केंद्र के 2016 के नोटबंदी के फैसले को चुनौती केवल अकादमिक अभ्यास बन गई है, और सुनवाई को 12 अक्तूबरContinue Reading

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को किशोर न्याय अधिनियम, 2015 में हालिया संशोधन को चुनौती देने वाली याचिका पर केंद्र से जवाब मांगा, जिसके तहत बच्चों के खिलाफ कुछ श्रेणियों के अपराधों को गैर-संज्ञेय बनाया गया है। न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति हेमा कोहली की पीठ ने महिला एवं बालContinue Reading

शादी का मतलब सिर्फ शारीरिक सुख नहीं, परिवार को बढ़ाना भी जरूरी: मद्रास हाई कोर्ट* बच्चे की कस्टडी के एक मामले की सुनवाई करते हुए मद्रास हाई कोर्ट ने शादी को लेकर अहम टिप्पणियां की हैं। अदालत ने कहा कि शादी का अर्थ सिर्फ शारीरिक सुख पाना ही नहीं हैContinue Reading

*पगड़ी और कृपाण की तरह मुस्लिम लड़कियों को सुरक्षा देता है हिजाब,सुप्रीम कोर्ट में बोले वकील* कर्नाटक के शिक्षण संस्थानों में हिजाब पर बैन के खिलाफ दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को सुनवाई हुई। इस दौरान शीर्ष अदालत ने कहा कि शिक्षण संस्थानों को अपने हिसाब से यूनिफॉर्मContinue Reading