अलीगढ़ में अग्नीपथ योजना का विरोध बेकाबू सा हो गया है। आज भी बेहद उग्र प्रदर्शन करते हुए सरकारी संपत्ति को बड़ी मात्रा में नुकसान पहुंचाया गया। इसके बाद पुलिस को भी कुछ बल का उपयोग करना पड़ा ।आपको बता दें कि अग्निपथ या अग्निवीर योजना केंद्र सरकार ने सेना सेना में अर्थ समय के लिए नौकरी के रूप में तैयार की। इस योजना के तहत युवाओं को 4 साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा। इन सैनिकों को अग्निवीर कहा जाएगा ।इनको 4 साल के सेवाकाल के दौरान करीब करीब ₹24 लाख  की कमाई होगी। उसके बाद हर तरह की भर्ती में इन अग्निवीरों को प्राथमिकता दी जाएगी ।इस तरह से देखा जाए तो घाटे का सौदा नहीं है लेकिन कुछ लोग इसको गलत बताते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं और आगजनी कर रहे हैं। किसी भी तरीके से सरकारी संपत्ति को या व्यक्तिगत संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले प्रदर्शनों का समर्थन नहीं कर सकते । लोकतंत्र में अपनी बात कहने का अधिकार है लेकिन इसी लोकतंत्र में दूसरे की संपत्ति और सरकारी संपत्ति का सम्मान करना भी उतना ही आपका कर्तव्य है।

अग्निपथ विरोध-अलीगढ़ में बवाल बेकाबू, पुलिस चौकी फूंकी, एडीजी की गाड़ी तोड़ी।
अग्निपथ विरोध में उपद्रवियों ने तोड़फोड़, आगजनी और पत्थरबाजी की। सबसे ज्यादा बवाल अलीगढ़ में हुआ है। यहां पुलिस चौकी फूंक दी गई। एसएसपी और अन्य अफसरों को जान बचाकर भागना पड़ा,एडीजी की गाड़ी पर भी पथराव कर शीशे तोड़ दिये गए,वहीं अग्निपथ योजना के खिलाफ आज सुबह से ही प्रदर्शन शुरू हो गया। सेना भर्ती की नई योजना अग्निपथ के विरोध में शुक्रवार को अलीगढ़ में जमकर बवाल हुआ। सुबह करीब 11 बजे शुरू हुआ बवाल शाम साढ़े चार बजे के बाद तक जारी रहा। यमुना एक्सप्रेस-वे और टप्पल-जट्टारी क्षेत्र अग्निपथ में तब्दील हो गया। योजना का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने पुलिस चौकी जट्टारी को फूंक दिया। चौकी में खड़े कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया,जट्टारी पुलिस चौकी के बाहर खड़ी दरोगा की कार में आग लगा दी गई। चेयरमैन की गाड़ी भी फूंक दी गई। यमुना एक्सप्रेसवे व इंटरचेंज पर पुलिस-प्रशासन के वाहनों सहित दर्जनों यूपी व हरियाणा रोडवेज बसों में तोड़फोड़ व आगजनी की गई। बवाल में सीओ खैर सहित कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं,आउट ऑफ कंट्रोल हुई भीड़ को तितर बितर करने पहुँचे DM-SSP से भी हालात नहीं संभले। पुलिस की मौजूदगी में पुलिसकर्मियों से अभद्रभाषा व हाथपाई हुई। अलीगढ़ पुलिस इस दौरान मूकदर्शक बनी रही।जट्टारी में डीएम-एसएसपी पथराव में जान बचाकर भागे। आसू गैस के गोले दागकर किसी तरह उपद्रवियों को रोका गया,एसएसपी को अफसरों की जान बचाने को खेतों से होकर निकलना पड़ा। तनावपूर्ण हालात के बीच आगरा जोन के एडीजी राजीव कृष्ण भी टप्पल पहुंच गए। उनकी गाड़ी पर भी पथराव हुआ। इससे गाड़ी का शीशा टूट गया है।

Share it please

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: