ताजनगरी में जमा होने लगा कूड़ा, पार्षद और कॉलेज कर्मचारी की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े सफाईकर्मी, जानें वजह

Spread the love

[ad_1]

हरिकांत शर्मा/आगरा. आगरा सफाई कर्मचारियों और नगर निगम के पार्षदों के बीच हुआ विवाद अब तूल पकड़ता जा रहा है. विवाद के बाद सफाई कर्मचारियों ने शहर की सफाई बंद कर रखी है. मंगलवार दोपहर को नगर निगम में नगर आयुक्त और अधिकारियों के साथ सफाई कर्मचारी संगठन के नेताओं की बैठक हुई. तकरीबन 1 घंटे चली बैठक पूरी तरीके से बेनतीजा रही.

पार्षद की गिरफ्तारी की मांग पर सफाई कर्मचारी अड़े हुए हैं. नगर आयुक्त के साथ हुई बैठक के बेनतीजा रहने के बाद सफाई कर्मचारियों ने घोषणा की कि वे शहर की सफाई व्यवस्था बुधवार को भी बंद रखेंगे. ऐसे में अब आम लोगों को समस्या होने वाली है. क्योंकि शहर भर से प्रतिदिन 1 हज़ार मीट्रिक टन कूड़ा कचरा निकलता है. इन कचरों के सड़न से शहर में अब दुर्गंध पसरेगी.

विवाद की वजह

बीते दिनों वॉर्ड 86 के पार्षद ऋषभ गुप्ता और उनके साथियों ने सफाई नायक विकास दीप के साथ मारपीट की. इसके अलावा एसएन मेडिकल कॉलेज में अनिल मिश्रा नाम के व्यक्ति ने कर्मचारी पिंकी डागौर को रात के 9:00 बजे फोन किया. फोन पर अश्लील बातें कीं. जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया और घर से उठाने की धमकी भी दी. इसको लेकर सफाई कर्मचारियों समेत कर्मचारी आयोग के अधिकारियों में रोष है.

48 घंटे का अल्टीमेटम

कर्मचारियों ने शनिवार को प्रशासन को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था. दोनों ही आरोपियों की तुरंत गिरफ्तारी हो, नहीं तो वह शहर भर में सफाई व्यवस्था बंद रखेंगे. सोमवार दोपहर को नगर आयुक्त के साथ कर्मचारियों की बैठक रही जो पूरी तरह बेनतीजा रही. कर्मचारी दोनों ही आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते रहे.

कार्य बहिष्कार का फैसला

कर्मचारी संघ के नेता विनोद इलाहाबादी ने कहा कि जब तक दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, शहर का कूड़ा नहीं उठाया जाएगा. सफाई कर्मचारी पूरी तरह से कार्य बहिष्कार करेंगे.

Tags: Agra Municipal Corporation, Agra news, Local18

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *