03 दिनों के अन्दर समस्त विभाग लक्ष्य के सापेक्ष 50 प्रतिशत श्रमिकों का पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें-डीएम।

Spread the love

असंगठित क्षेत्र के अधिक से अधिक श्रमिकों का करायें पंजीकरण जिलाधिकारी।
पीलीभीत सूचना विभाग 29 नवम्बर 2021/जिलाधिकारी  पुलकित खरे की अध्यक्षता में ई-श्रम पोर्टल पर श्रमिकों की पंजीकरण की प्रगति सम्बन्धी समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट कार्यालय में सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को कडे़ निर्देश देते हुसे कहा कि ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित कर्मकारों का श्रमिकों का पंजीकरण लक्ष्य के अनुरूप पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाये तथा 03 दिनों के अन्दर समस्त विभाग लक्ष्य के सापेक्ष 50 प्रतिशत श्रमिकों का पंजीकरण कराना सुनिश्चित अन्यथा सम्बन्धित के विरूद्व कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने कहा कि यह प्राथमिकता के आधार पर कराया जाये। विभागवार समीक्षा के दौरान डीसी मनरेगा को निर्देशित करते हुये कहा कि सक्रिया जॉबकार्ड धारकों का शत प्रतिशत पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाये। जिला कार्यक्रम अधिकारी को आंगनबाडी कार्यकत्रियों के अवशेष का भी पंजीकरण तत्काल पूर्ण करने के निर्देश दिये गय। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के पात्र किसानों को जिनके पास ढाई एकड से कम भूमि है उन समस्त किसानों का पंजीकरण कराने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश दिये गये। वाणिज्यकर विभाग से सम्बन्धित अधिकारियों निर्देशित करते हुये कहा कि कि असंगठित क्षेत्र से सम्बन्धित श्रमिकों के पंजीकरण हेतु राइस मिलर्स, उद्योग व्यापारियों से समन्वय स्थापित करते हुये अधिक से अधिक पंजीकरण कराना सुनिश्चित करें।
इस दौरान श्रम प्रवर्तन अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि 16 से 59 वर्ष के आयु के सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का पंजीकरण किया जायेगा। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि कार्यदायी संस्थाओं के माध्यम से भी श्रमिकों का पंजीकरण कराना सुनिश्चित किया जाये। ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करने हेतु श्रमिकों का आधार, मोबाइल, बैंक खाता आदि का विवरण प्राप्त कर जनसेवा केन्द अथवा स्वयं श्रम पोर्टल पर जाकर पंजीकरण करें। उन्होंने निर्देशित करते हुये कहा कि ई श्रम पोर्टल पंजीकरण होने वाले श्रमिकों को रू0 02 लाख का दुर्घटना बीमा तथा भविष्य में इस पोर्टल के डेटा का उपयोग सामाजिक सुरक्षा हेतु लाभों का वितरण करने में एवं आपदा व महामारी की स्थिति में श्रमिकों को मदद दी जायेगी।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक, डीसी मनरेगा, जिला पंचायतराज अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, कृषि अधिकारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *